प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना


  प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने अपने पहले कार्यकाल के उपरांत किसानों को आर्थिक संभल प्रधान करने के अपने संकल्प पत्र में किसानों की आय को बढ़ाने पर विशेष बल दिया था| जब मोदी सरकार पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में आई तो अपने संकल्प पत्र को याद रखते हुए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की नीव 1 फरवरी 2018 को रखी और किसानों के खाते में 6000 रूपए 3 किश्तो में 4 माह के अंतराल से देने प्रारम्भ किये| किसान इन रुपयों का उपयोग खाद बीज खरीदने में कर सके ,इसी उद्देश्य के साथ इस योजना को लांच किया|
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना कैसे काम करती है?

- किसान सम्मान निधि योजना में प्रत्येक किसान को 6000 रूपए का फायदा मिलता है,इस योजना में एक बार नजदीक ई-मित्र से फॉर्म भरवाना होता है| एक बार फॉर्म भरवाने के बाद यह फॉर्म 2 लेवल पर वेरीफाई किया जाता है,जिसमे प्रथम लेवल पटवारी के माध्यम से वेरीफाई किया जाता है,उसके बाद दूसरा लेवल कलेक्टर द्वारा वेरीफाई करके फॉर्म को केंद्र को भेज दिया जाता है| और इसके बाद किसान को 4 माह के अंतराल पर 2000 रूपए की किश्त सीधा किसान के अकाउंट में जमा कर दी जाती है| इस प्रकार बीजेपी सरकार की ये योजना किसानों के लिए एक वरदान साबित हो रही है| ये योजना एक दम पारदर्शिता पर खरी साबित होती है| इस योजना का सीधा फायदा किसानों को प्राप्त होता है|


  आवश्यक दस्तावेज
1 – आधार कार्ड
2 – खेत की जमाबंदी
3 – बैंक की पासबुक
4 – भामाशाह कार्ड / जन आधार कार्ड (राजस्थान में भामाशाह का परिवर्तित नाम जन आधार कार्ड ) 

ई- मित्र पर रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया और उसका शुल्क
- जब आप ई-मित्र पर जाते है तो आपको इस योजना से संबंधित दस्तावेज ई-मित्र संचालक को उपलब्ध करवाने होते है|
-अब ई-मित्र संचालक द्वारा आपसे कुछ जानकारी मांगी जाती है,जिसमे भूमि रिकॉर्ड का ब्यौरा,कृषि भूमि पर लोन आदि
- ये सब जानकारी भरने के बाद ई-मित्र संचालक आपका फॉर्म आपके आधार में दिए मोबाइल नंबर या फिंगर स्कैन के माध्यम से वेरीफाई करता है|
- फॉर्म वेरीफाई होने के बाद आपके मोबाइल पर इस योजना के रजिस्ट्रेशन नंबर का मैसेज आता है या ई-मित्र संचालक द्वारा आपको इस योजना का रजिस्ट्रेशन नंबर दे दिया जाता है|

इस योजना का फॉर्म भरने के लिए आपसे 25 रूपए(सरकारी+ई-मित्र शुल्क)+ प्रति दस्तावेज अपलोड करने के 10 रूपए लिए जाते है,इस योजना में अधिकतम आपसे 50 रूपए लिए जा सकते है| 
-भामाशाह/जन आधार कार्ड अपडेट करने के लिए आपको ई-मित्र संचालक को अलग से शुल्क देना होता है| ये शुल्क इस योजना में शामिल नहीं होता है|
- पंचायत समिति में लगे सरकारी ईमित्र पर आपको इस योजना फॉर्म के 15 रूपए से 25 रूपए देने होते है|

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ किन लोगों को नहीं मिलेगा 
    -ऐसे रिटायर्ड सरकारी अधिकारी जिनकी मासिक पेंशन 10 हजार से अधिक है|
-
    -ऐसे सरकारी कर्मचारी जो वर्तमान में किसी सरकारी पद पर आसीन है|
-  

    -  पेशेवर डॉक्टर, इंजीनियर,सीए आदि
    - कृषि भूमि के टैक्स को छोड़कर अन्य टैक्स फाइल भरने वाले व्यक्ति इस योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे|
    - ऐसे व्यक्ति जिनके पास कृषि के क्षेत्र में काम आने वाले वाहनों के अतिरिक्त चार पहिया वाहन धारक इस योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे| और ऐसे व्यक्ति अपने आप में सक्षम होते है|  


 


No comments: